Backlinks Kya Hai Backlinks Kaise Banaye

इस पोस्ट में मैं आपको Backlinks Kya Hai Backlinks Kaise Banaye और कैसे काम करते है उसके बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश करूँगा।

आप SEO(Search Engine Optimization) से तो वाक़िफ़ होंगे ही अगर आप अपने ब्लॉग को सर्च रिजल्ट्स में First पेज पर लाना चाहते है तो आपको अपने ब्लॉग का SEO करना बहुत ही जरुरी है।

SEO मुख्य दो प्रकार से किया जाता है –

  1. On Page SEO
  2. Off Page SEO

On Page SEO में वे सभी चीजें आती है जोकि आप अपनी ब्लॉग पोस्ट लिखते वक़्त अप्लाई करते है। On पेज SEO अच्छी प्रकार से करने के लिए आपको एक SEO ऑप्टीमाइज़्ड आर्टिकल/पोस्ट लिखनी होती है।

Off Page SEO में वे सभी चीजें आती है जोकि आप अपने ब्लॉग के बाहर अप्लाई करते है। इनमें सबसे इम्पोर्टेन्ट होते है- Link Building And Social Media Presence. सोशल मीडिया प्रेज़न्स में आपको अपने ब्लॉग को सोशल मीडिया पर प्रमोट करना होता है और लिंक बिल्डिंग में आपको अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक्स बनाने होते है। जितने ज्यादा आपकी साइट/ब्लॉग के बैकलिंक्स होंगे आपकी साइट सर्च रिजल्ट्स में उतनी ही हायर रैंक प्राप्त करती है।

Backlinks Kya Hai Backlinks Kaise Banaye – बैकलिंक्स क्या है बैकलिंक्स कैसे बनाए

Backlinks Kya Hai
Backlinks Kya Hai

बैकलिंक क्या है वो सिंपल शब्दों में समझे तो बैकलिंक्स वो लिंक होते है जो एक वेबसाइट से किसी दूसरी वेबसाइट पर जाते है। जैसे की मान लेते है अगर मैं आपकी साइट का लिंक अपनी किसी पोस्ट या अपने ब्लॉग पर ऐड करता हूँ तो इससे आपकी साइट को एक बैकलिंक प्राप्त होता है।

बैकलिंक्स का क्या फायदा होता है SEO में?

बैकलिंक्स आपके ब्लॉग के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। आपकी साइट के जितने ज्यादा बैकलिंक्स होते है गूगल आपकी साइट को सर्च रिजल्ट्स में उतनी ही ज्यादा वैल्यू देता है। लेकिन गूगल आपके ब्लॉग को वैल्यू तभी देता है जब आपके ब्लॉग के बैकलिंक्स क्वालिटी (अच्छी) साइट्स से होंगे।

बैकलिंक्स के और भी बहुत सारे फायदे होते है जैसे की सर्च इंजन आपकी साइट को जल्दी इंडेक्स करने लगता है आपकी साइट को रेफरल ट्रैफिक मिलता है आपकी साइट की Authority Increase होती है।

Quality Backlinks क्या होता है ?

क्वालिटी बैकलिंक्स वे होते है जो आपको क्वालिटी साइट्स से प्राप्त होते है। जैसे की Jasmine Tech एक क्वालिटी साइट है और अगर आपको Jasmine Tech से बैकलिंक प्राप्त होता है तो गूगल आपकी साइट को ज्यादा वैल्यू देता है और आपके ब्लॉग को सर्च रिजल्ट्स में हायर रैंकिंग प्रदान करता है।

क्वालिटी बैकलिंक्स बनाने के लिए आपको Relevancy का भी बहुत ध्यान रखना पड़ता है मतलब की अगर आपका ब्लॉग टेक्नोलॉजी से रिलेटेड है तो आपको अन्य टेक्नोलॉजी रिलेटेड ब्लोग्स से ही बैकलिंक्स प्राप्त करने होंगे इसके बजाए अगर आप किसी फ़ूड ब्लॉग से बैकलिंक्स प्राप्त करते है तो गूगल ऐसे बैकलिंक्स को ज्यादा वैल्यू नहीं देता।

बैकलिंक्स कितने प्रकार के होते है?

बैकलिंक्स दो प्रकार के होते है-

  1. Do Follow Backlinks
  2. No Follow Backlinks

Do Follow Backlinks

Do Follow Backlinks बैकलिंक्स लिंक जूस पास करने में मदद करते है यानि की ऐसे लिंक्स आपके ब्लॉग की रैंकिंग को बढ़ने में काफी मददगार होते है।

No Follow Backlinks

ये वे बैकलिंक्स होते है जोकि लिंक पास करने को Allow नहीं करते इनकी सर्च इंजन में वैल्यू Do-Follow लिंक्स के मुकाबले कम होती है। सर्च इंजन रैंकिंग में No-Follow लिंक्स का रोल नहीं होता है।

तो अगर कभी आपकी साइट पर ऐसी साइट की लिंक ऐड करने का मौका पड़े जिस पर कुछ गलत चीज है तो आप उसको No-Follow कर सकते है।

By डिफ़ॉल्ट सभी लिंक्स Do-Follow होते है लेकिन अगर आप चाहते है की आप जो लिंक दूसरी साइट्स को दे रहे है उससे लिंक जूस पास न हो तो आप लिंक में No-Follow एट्रिब्यूट ऐड कर सकते है। आप नीचे देख सकते हैं:

<a rel="nofollow"  href="https://jasminetech.in/" >Jasmine Tech</a>

How To Create Backlinks In Hindi – Apne Blog Ke Liye Backlinks Kaise Banaye

Backlinks Kaise Banaye
Backlinks Kaise Banaye

Backlinks Kya Hai Backlinks Kaise Banaye, आप बैकलिंक्स की इम्पोर्टेंस को समझ गए होंगे इसलिए अब आपके मन में ये क्वेश्चन जरूर आया होगा की बैकलिंक्स बनाने की शुरुआत कैसे करें। अपनी साइट के बैकलिंक्स बनाने के लिए आप इन सिंपल तरीकों का प्रयोग कर सकते है:

Quality Content Likhe

अगर आप अपने ब्लॉग के लिए ज्यादा से ज्यादा बैकलिंक्स बनाना चाहते है तो इसके लिए आपको अपने ब्लॉग पर क्वालिटी कंटेंट लिखना होगा। पोस्ट बिलकुल सिंपल भाषा में तो थे पॉइंट और विस्तार से होनी चाहिए। यानि की आपको ऐसे आर्टिकल्स लिखने होंगे जिसे आपके रीडर्स आसानी से समझ सकें और वह आर्टिकल उनकी मदद कर सके।

दूसरे ब्लाग्स पर कमेंट करना

बैकलिंक्स बनाने का ये फ्री और आसान तरीका है आपको बस ये करना है की अपने Niche के दूसरे ब्लोग्स पर रेगुलरली कमेंटिंग शुरू करें। जिन ब्लोग्स पर कमेंट इनेबल्ड होता है उन पर कमेंटिंग करने से आपके ब्लॉग को डू-फॉलो बैकलिंक प्राप्त होता है जोकि आपके ब्लॉग के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होता है। लेकिन जिन ब्लोग्स पर कमेंटिंग करने से आपको नो-फॉलो बैकलिंक प्राप्त होता है वे भी आपके ब्लॉग के लिए हेल्पफुल होते है। हालाँकि नो-फॉलो सर्च रिजल्ट्स में ज्यादा मटर नहीं करते लेकिन न होने से कुछ होना भी सही होता है।

Guest Blogging

क्वालिटी बैकलिंक्स बढ़ाने में गेस्ट ब्लॉग्गिंग बहुत ज्यादा प्रभावी होती है। इसमें आपको अपने Niche (टॉपिक) के कुछ पॉपुलर ब्लोग्स पर अपनी गेस्ट पोस्ट सबमिट करनी है और साथ ही अपने ब्लॉग का एक लिंक ऐड करना है। लेकिन याद रखने की गेस्ट ब्लॉग्गिंग के लिए अपने निच के पॉपुलर ब्लोग्स को ही चुने और एक बढ़िया हाई क्वालिटी कंटेंट वाली गेस्ट पोस्ट लिखकर सबमिट करें।

Visit BlogAdda.com to discover Indian blogs

अपने ब्लॉग को वेब Directories में सबमिट करें

अपने ब्लॉग को वेब डायरेक्ट्रीज में सबमिट करना बैकलिंक्स बनाने का एक बढ़िया मेथड है इसके लिए अपने ब्लॉग को विभिन्न वेब डायरेक्ट्रीज में सबमिट करें लेकिन याद रहे की आप अपने ब्लॉग को क्वालिटी वेब डायरेक्ट्रीज में ही सबमिट करें।

बैकलिंक बनाते समय इन बातों का ध्यान रखे

बैकलिंक्स आपकी साइट के लिए काफी हेल्पफुल हो सकते है लेकिन अगर आप गलत तरीकों का प्रयोग करके बैकलिंक्स बनाएंगे तो ये आपकी साइट के लिए बहुत ज्यादा नुकसानदायक हो सकते है।

अपनी साइट के लिए बैकलिंक्स बनाते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान अवश्य रखें:

  • अपनी साइट के लिए केवल क्वालिटी साइट्स से ही बैकलिंक्स प्राप्त करने की कोशिश करें
  • कभी भी फ़ीवर आदि साइट्स से पेड बैकलिंक्स न खरीदें
  • लौ क्वालिटी साइट्स जैसे की पोर्न साइट्स या स्पम्मी साइट्स से बैकलिंक प्राप्त करने को अवॉयड करें
  • बैकलिंक्स की क्वांटिटी से ज्यादा क्वालिटी मैटर करती है
  • अपने निच से अलग ब्लोग्स से बैकलिंक्स प्राप्त करने को अवॉयड करें
  • अपने निच से अलग ब्लोग्स से बैकलिंक्स प्राप्त करने को अवॉयड करें
  • एक साथ बहुत सारे बैकलिंक्स न बनाये इससे गूगल को शक हो सकता है और वो आपकी साइट को Penalize कर सकता है

Backlinks Se Jude FAQs

क्या बैकलिंक्स सिर्फ paid ही होते हैं?

नहीं, ऐसा नहीं है। बैकलिंक्स फ्री मे भी मिलते हैं पर क्या होता है कि जब किसी कि वेबसाईट या ब्लॉग DA अच्छी हो जाती है तो वो अपनी साइट से बैकलिंक्स देने के लिए चार्ज लेने लगता है।

क्या हमे बैकलिंक्स लेना जरूरी है?

नहीं, बैकलिंक्स लेना जरूरी नहीं है, पर अगर आप बैकलिंक्स लेते हैं तो आपकी कि वेबसाईट गूगल कि नजर मे अछि होती जाती है जिससे आपके कंटेन्ट को गूगल रैंक करना शुरू करता है। हालांकि अगर आपको ऑर्गैनिक ट्राफिक से मतलब नहीं है तो आप बैकलिंक्स कि तरफ ध्यान न दे।

क्या बिना बैकलिंक्स का ब्लॉग रैंक नहीं करता?

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, ये depend करता है आप किस कीवर्ड पर रैंक करने कि कोशिश कर रहे हैं।

Conclusion

मेरे हिसाब से अब आप बैकलिंक्स के बारे में अच्छी तरह से जान गए होंगे की Backlinks Kya Hai Backlinks Kaise Banaye और क्या फायदे है बैकलिंक के।

फिर भी अगर आपका बैकलिंक्स से सम्बंधित कोई भी क्वेश्चन है तो आप कमेंट के द्वारा पूछ सकते है।

Sharing Is Caring:

1 thought on “Backlinks Kya Hai Backlinks Kaise Banaye”

Leave a Comment